अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने अपने ही एक कर्मचारी को किया ससपेंड, 2 मई को बवाल करने वाले को सम्मानित करने का आरोप

Share This News

कथित तौर पर हिंदू युवा वाहिनी के लोगों द्वारा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में बवाल और हमले को लेकर एएमयू प्रशासन लगातार छात्रों के साथ खड़ा हुआ है। इसी क्रम में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी प्रशासन में अपने ही एक कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया है।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी द्वारा जारी एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि आज यूनिवर्सिटी गेम्स कमेटी के इंस्ट्रक्टर मजहरुल कमर को सस्पेंड कर दिया गया है और उनके खिलाफ जाँच के आदेश दे दिए गए हैं।

कमर के खिलाफ आरोप है कि वह हाल ही में अलीगढ के ही डीएस कॉलेज गए थे जहां उन्होंने गोस्वामी को सम्मानित किया है। गोस्वामी वही व्यक्ति हैं जिन के ऊपर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी पर हमला करने को लेकर मुकदमा दर्ज किया गया था और उन्हें जेल भी भेजा गया था।

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इस मामले को सख्ती से लेते हुए मज़हरुल कमर से 24 घंटे में जवाब मांगा था और अब जवाब से संतुष्ट ना होने पर प्रशासन ने उनके खिलाफ कार्रवाई की है।

कारण बताओ नोटिस में कहा गया था कि आपको पता है कि वह व्यक्ति (गोस्वामी) उस भीड़ का हिस्सा था जिसने यूनिवर्सिटी और उसके छात्रों के खिलाफ 2 मई को अभद्र नारेबाजी की थी। उसके बाद भी आप उससे क्यों मिले। आपने एएमयू की के भावनाओं क्यों आहत किया है खासकर उन छात्रों की जो इस मामले में जांच के लिए धरने पर बैठे हैं।

उसने यह भी कहा गया था कि यूनिवर्सिटी के जिम्मेदार कर्मचारी से इस तरह के कामों की उम्मीद नहीं की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *