असीरे बगदाद इमाम मूसा काज़िम का मातम आज से

Share This News

बसिलसिलए शहादत इमाम मूसा काज़िम अस (Imam Musa Kazim) असीरे बगदाद का मातम के उन्वान से तीन रोज़ा मजलिस व मातम का एहतेमाम कल 11 अप्रैल से 13 अप्रैल तक छोटा इमामबाड़ा में खदिमाने इमाम मूसा काज़िम के ज़ेरे एहतेमाम शब में 8 बजे होगा 11 और 12 अप्रैल को मजलिस को मौलाना तूसी ज़ंगीपुरी और आखरी मजलिस 13 अप्रैल को मौलाना मिर्ज़ा मोहम्मद अशफ़ाक़ खिताब करेंगे।

मजलिस का आगाज़ तिलावते क़ुरआन मजीद से होगा 12 अप्रैल को कैदखाने बगदाद का मंज़र पेश किया जाएगा और 13 अप्रैल को बाड़े मजलिस शबीह ताबूत इमाम मूसा काज़िम अस और हज़रत अबू तालिब अस की ज़्यारत करायी जायेगी। इसी के साथ रौज़ए काज़मैन इराक का परचम भी होगा।

आपको बता दें कि, इमाम मूसा काज़िम (अ.ह.) (Imam Musa Kazim) ने विभिन्न अत्याचारी शासकों के दौर में ज़िंदगी बिताई। आपका युग, परिस्थितियों के हिसाब से बहुत दुखद और कठिनाइयों एंव दम घुट जाने वाला दौर था।

हर आने वाले राजा ने इमाम (Imam Musa Kazim) पर सख्त नज़र रखी लेकिन यह आपका कमाल था कि आप दुखों और कठिनाईयों के दौर में भी कदम कदम पर लोगों को शिक्षा, ज्ञान और निर्देश देते रहे, इतने अनुचित हालात में आपने उस पाठशाला की जिसकी नींव आपके स्वर्गीय पिता ने रखी थी रक्षा की। आपका मख्य उद्देश्य उम्मत का निर्देशन और ज्ञान प्रसारण था जिसका आपने कदम कदम पर प्रचार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *