अंबेडकरनगर ज़िले में जुरगाम मेंहदी दिनदहाड़े हत्या पर जल्द कार्यवाही नहीं हुई तो होगा बड़ा प्रदर्शन: शामिल शम्सी

Share This News

उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर जिले में हीरापुर बाजार के पास आज सुबह बदमाशों ने बहुजन समाज पार्टी के नेता जुरगाम मेंहदी और उनके ड्राइवर की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। इससे हत्या के बाद से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है और लोगों में खासा गुस्सा देखा जा रहा है।

खबर के अनुसार माफिया खान मुबारक समेत 11 लोगों के खिलाफ को हत्या और साजिश की धाराओं में अंबेडकरनगर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आज सुबह बसपा नेता जुरगाम मेंहदी अापने साथियों के साथ गाड़ी से टांडा के लिए निकले थे। जब वे हमीरपुर बाजार पहुंचे तो बाइक पर सवार 6 लोगों ने उनकी गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इस फायरिंग में जुरगाम मेंहदी और उनके चालक के साथ कई और लोगों को गोलियां लगी। घटना के बाद ही दोनों को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है।

मामले को देखते हुए पुलिस ने पूरे इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम कर दिए हैं और नेताओं का उनके घर पहुंचने का सिलसिला जारी हैं।

इस मामले में जेल में बंद माफिया खान मुबारक के ऊपर पुलिस को भी शक है और पुलिस उसका हाथ होने से इनकार नहीं कर रही है। बदमाशों को पकड़ने के लिए भले ही पुलिस से कार्रवाई कर रही हो लेकिन उससे लोग खुश नहीं है।

वक़्फ़ बचाओ आंदोलन के अध्यक्ष शामिल शम्सी ने शिया न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि जुरगाम मेंहदी की हत्या कोई छोटा मामला नहीं है। इसमें सीधे तौर पर वहां के माफिया खान मुबारक का हाथ है जो पिछले काफी समय से उनके खिलाफ था।

उन्होंने कहा कि हम आज पुलिस के अधिकारियों से मिलेंगे और कड़ी कार्रवाई की मांग करेंगे। अगर सरकार इस मामले में सख्त कदम नहीं उठाती है तो जल्द ही पूरे प्रदेश में प्रदर्शन किया जाएगा। चहल्लुम तक हम इस मामले को देख रहे हैं, अगर सख्त कार्यवाही नहीं हुई तो बड़ा प्रदर्शन होगा।

हुसैनी टिगर्स के अध्यक्ष नक़ी हुसैन ने इस मामले में एडीजी कानून व्यवस्था को एक पत्र लिख कहा कि जुरगाम की हत्या के पीछे जेल में बंद माफिया खान मुबारक का हाँथ है और पिछली सरकार में माफिया के दबाव में उनको झूठे केस में फसाकर अपराधी बनाने का प्रयास किया गया था।

नक़ी हुसैन ने मांग कि इस पुरे मामले की निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए और वहां के मौजूदा एसपी व सीओ के तुरंत तबादले किये जाए। इसके साथ ही हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़कर उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *