दुश्मनों का काम है फूट डालकर कट्टरपंथ को बढ़ावा देना: बशार अल असाद

Share This News

सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद (Bashar Al Assad) ने बल देकर कहा है कि दुश्मनों का मुख्य हथियार किसी भी समाज में फूट डालना, चरमपंथ को मज़बूत बनाना और उस समाज के लोगों में वैचारिक व धार्मिक दूरी पैदा करना है।

बश्शार असद (Bashar Al Assad) ने बुधवार को राजधानी दमिश्क़ में आयोजित पहली इस्लामी एकता कान्फ़्रेंस में भाग लेने वालों के एक प्रतिनिधि मंडल से मुलाक़ात में कहा कि मुसलमानों को कमज़ोर करने और उनमें फूट डालने की पश्चिम की चालों के मुक़ाबले मेें समाज को सुरक्षित करने के लिए मुसलमानों की एकता काफ़ी है।

इस काॅन्फ़ेंस में भाग लेने वालों ने, जो मिस्र, अलजीरिया, ट्यूनीशिया, मोरोको, इराक़, लेबनाना, इंडोनेशिया, तुर्की, भारत और अफ़ग़ानिस्तान से मिस्र पहुंचे थे, धर्मगुरुओं और इस्लामी जगत द्वारा सीरिया का साथ देने पर बल देिया और आतंकियों के मुक़ाबले, सफलताएं अर्जित करने पर बधाई दी।

आपको बताते चले कि पिछले कई सालों से सीरिया आतंकवाद का मुक़ाबला कर रहा है और ज़यादातर आतंकियों को या तो मार गिराया है या फिर वह भाग रहे हैं। सीरिया में आईएसआईएस फिर पैर पसार रहा था लेकिन बशर अल असद (Bashar Al Assad) ने ईरान व हिज़्बुल्लाह की मदद से उन्हें भी भागने पर मजबूर कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *