इमाम अली (अस) के ग़म में डूबी पूरी दुनिया, हर जगह गूंजी ‘अली हाय अली’ की सदा

Share This News

शिया मुसलमानों के पहले इमाम हजरत अली (अस) की शहादत का गम का सिलसिला शुरू हो चुका है। पूरी दुनिया में आज फज्र (सुबह) की नमाज के बाद 19वीं रमजान को इस ग़म को मनाया गया।

भारत के अलग अलग हिस्सों में, आज सुबह नमाज़ के बाद जुलूस बरामद हुआ जिसमें लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और मातम कर अपने ग़म का इज़हार किया।

आपको बता दें, कि आज 19 रमज़ान के दिन मलऊन इब्ने मुल्जिम ने ज़हर से बुझी हुई तलवार से इमाम अली (अस) के सर पर ज़रबत लगा दी थी। जिसके बाद आप (अस) काफी ज़ख़्मी हो गए थे।

इसी क्रम में आज लखनऊ में गिलीम (कंबल) का जुलूस निकाला गया। पुराने शहर में निकाले गए इस जुलूस में सुबह से ही हजारों की तादात में शिया समुदाय के लोग शामिल हुए। लोगों ने ताबूत की जियारत किया।

यह जुलूस रोजा-ए-काजमैन थाना सआदतगंज से शुरू होकर मंसूर नगर तिराहा, गिरधारी सिंह कुंवर इण्टर कॉलेज, टुडिय़ागंज तिराहा से बांये मुड़कर नक्खास, अकबरी गेट, पाटानाला चौकी, शिया कालेज होते हुये इमामबाड़ा मोहम्मद तकी के पास जाकर समाप्त हुआ।

वहीँ मुंबई में भी आज जगह जगह जगह जुलूस बरामद जिसमें हजारों की तादाद में मोमिनीन के शिरकत कर अहलेबैत (अस) को पुरसा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...