इमामबाड़ा सिब्तैनाबाद के प्रांगण का होगा जीर्णोद्धार, लॉन में लगेंगे पेड़

Share This News

इमामबाड़ा सिब्तैनाबाद की नवनियुक्ति समिति के पदाधिकारियों की बैठक में हजरतगंज स्थित इमामबाड़े के पहुंच मार्ग के सुदृढ़ीकरण, इमामबाड़ा प्रांगण के जीर्णोद्धार और इमामबाड़े के लॉन में वृक्षारोपण का निर्णय लिया गया।

इमामबाड़े में समिति के पदाधिकारियों की बैठक में इमामबाड़े के मुतवल्ली मोहम्मद हैदर रिजवी ने नवनियुक्त सदस्यों को इमामबाड़े के इतिहास और पूर्व में नियुक्त समितियों के प्रयासों व भारतीय पुरातत्व सर्वे के जरिए इमामबाड़े के संरक्षण में किये गये कामों की जानकारी दी।

इसी के साथ उन्होंने इमामबाड़े की आय-व्यय की भी जानकारी समिति सदस्यों को देते हुए बताया कि समिति के प्रयासों से भारतीय पुरातत्व सर्वे की ओर से पिछले 10 सालों में इमामबाड़े की देखरेख और रखरखाव के लिए लगभग ढाई करोड़ रुपये खर्च किये गये हैं।
बैठक में समिति के सदस्यों अकबर हुसैन एडवोकेट, फहद अली और डॉ. सनोबर हैदर ने इमामबाड़े के पहुंच मार्ग, इमामबाड़ा प्रांगण के जीर्णोद्धार और इमामबाड़े के लॉन में वृक्षारोपण का सुझाव दिया।

समिति के आगा हैदर, वाकिफ महमूद रूफी, यशब हुसैन रिजवी और फातिमा शिकोह ने इमामबाड़े के लॉन से जा रहे सीवर को विस्थापित कराने, इमामबाड़े की मस्जिद की मरम्मत कराने और इमामबाड़े के ऐतिहासिक व धार्मिक महत्व को देखते हुए वेबसाइट बनाने का सुझाव दिया।

समिति के गुलाम अब्बास जैदी, काजिम हुसैन, मेहवर मसूद और अली जिया रिजवी ने इमामबाड़े की सुरक्षा के लिए गार्ड की तैनाती करने, इमामबाड़े की नियमित साफ-सफाई और इमामबाड़े के लॉन को आयोजनों के लिए दिये जाने की औपचारिकताएं, टेंट हाउस और कैटर्स के संबंध में नियमावली बनाने और इमामबाड़े के प्रांगण में अवैध पार्किंग पर कार्रवाई का सुझाव दिया।

इससे पूर्व मुतवल्ली मोहम्मद हैदर रिजवी ने समिति के नवनियुक्त सदस्यों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि समिति के अधिकतर सदस्य प्रबंधन स्नातक हैं जो बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं। पहली बार समिति में महिलाओं को भी शामिल किया गया है। बैठक के बाद इमामबाड़े के संस्थापक बादशाह अजमद अली शाह के ईसाले सवाब के लिए सूरए फातिहा पढ़ कर ईसाले सवाब किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *