ईरान, तुर्की और रूस ने सीरिया में राजनितिक समाधान ढूंढने की कवायद को और मज़बूत करेंगे

Share This News

सीरिया में जारी संघर्ष विराम के पालन के रक्षकों के रूप में ईरान, रूस व तुर्की के विदेश मंत्रियों ने शनिवार को अपनी दूसरी बैठक आयोजित की।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार इस बैठक के समापन पर जारी होने वाले संयुक्त बयान में 22 नवम्बर 2017 और 4 अप्रैल 2018 को ईरान, रूस व तुर्की के राष्ट्राध्यक्षों की बैठकों के बाद जारी होने वाले संयुक्त घोषणापत्रों के आधार पर त्रिपक्षीय सहयोग को मज़बूत बनाने के संकल्प को दोहराया गया है।

तीनों देशों के विदेश मंत्री इस बात पर सहमत हुए हैं कि सीरिया संकट के टिकाऊ राजनैतिक समाधान की प्राप्ति के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव क्रमांक 2254 के अनुसार अपने संयुक्त प्रयासों को अधिक मज़बूत बनाएं।

ईरान, रूस व तुर्की के विदेश मंत्रियों के संयुक्त बयान में सीरिया में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल की निंदा करते हुए सीरिया की प्रभुसत्ता और अखंडता को कमज़ोर करने की कोशिशों के मुक़ाबले पर बल दिया गया है।

बताते चले की सीरिया की सरकार पिछले कई वर्षों से आतंकी हमले झेल रही है और हाल ही में आतंकी संगठन आईएसआईएस को खदेड़ने में कामियाब रही है। अब ईरान और रूस सीरिया में राजनीती के ज़रिये जल्द से जल्द अमन कायम करने में अहम् भूमिका निभा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...