आईएसआईएस के खात्मे के बाद इराक में शांतिपूर्वक संपन्न हुए चुनाव

Share This News

इराक़ में संसदीय चुनाव के लिए मतदान 12 मई को हुए। राजनैतिक टीकाकार इराक़ में संसदीय चुनाव को इसलिए बहुत अहम बता रहे हैं क्योंकि यह चुनाव आतंकवादी गुट दाइश पर विजय के बाद आयोजित हो रहे हैं।

मौजूदा हालात में इराक़ में संसदीय चुनाव को इस देश में दाइश के बाद के दौर में स्थिरता व सुरक्षा की निशानी कहा जा सकता है।

इराक़ में संसदीय चुनाव इस देश की जनता के लिए आतंकवाद पर विजय के बाद संकट से बाहर निकलने के चरण को पूरा करने के लिए योग्य उम्मीदवारों को चुनने हेतु एक ऐतिहासिक अवसर समझा जा रहा है।

यह बात किसी से छिपी नहीं है कि सऊदी अरब की अगुवाई में साठगांठ का मोर्चा जो पश्चिम की ओर से निर्देशित नीति के अनुसार चुनावी अवसर से फ़ायदा उठाकर अपने पिट्ठुओं को जिताने में लगा है ताकि इराक़ को जो प्रतिरोध के अहम मोर्चे में शामिल है, अपने हित में मोड़ सके और इस देश के राजनेताओं को प्रतिरोध के विचार से दूर कर सके।

इराक़ में विदेशी प्रचार के प्रभाव में प्रतिरोध के मोर्चे को चुनावी मंच से दूर करने की बहुत कोशिश हो रही है ताकि टेक्नोक्रेट, इस्लामी व प्रतिरोध विरोधी सरकार सत्ता पर पहुंचे। लेकिन इराक़ के हालात और सर्वे दर्शाते हैं कि अंत में इराक़ी राष्ट्र का इस चुनाव को जीत कर एक अच्छे व प्रतिरोधी इराक़ के निर्माण और इस देश में दाइश के बाद के दौर की राजनीति का रोडमैप बनाने का संकल्प व्यवहारिक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *