अरबईन के मौके पर कर्बला आने वाले ज़ायरों की सटीक गिनती के लिए रौज़े के इंजीनियरों ने लगाए हैं आधुनिक कैमरे, जानिए इस रिपोर्ट में

Share This News

हज़रत अब्बास (अस) के रौज़े के संचार प्रभाग में काम कर रहे तकनीकी और इंजीनियरिंग स्टाफ ने केंद्रीय प्रणाली का संचालन शुरू किया जो कि इमाम हुसैन अस और उनके भाई हज़रत अब्बास की ज़ियारत पर अरबाइन करने के लिए करबाला आने वाले ज़ायरों की गिनती करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

इस नई प्रणाली के साथ-साथ व्यापक क्षेत्रों को कवर करने के लिए उच्च सटीकता के नए कैमरों को जोड़ने के लिए ज़ायरों की संख्या की गिनती में सटीकता आएगी।

अभियंता फेरास अब्बास हमजा ने कहा: “पिछले वर्षों में ज़ायरों की सटीक संख्या हासिल करने में सफलता प्राप्त करने के बाद इस साल, हमने पवित्र शहर की ओर जाने वाली सभी सड़कों को कवर करके अपना काम को और सुधारने का फैसला किया है। इन कैमरों को करबाला और अधिकांश ज़ायरों द्वारा उपयोग किये जाने वाली सड़कों जैसे नजाफ, हिला, बगदाद, हुसैनियाह और अल-हुरर की सड़कों पर लगाया गया है।”

उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए, हमने मुख्य सड़कों के साथ-साथ शहर के अंदर की सड़कों में अतिरिक्त कैमरे लगाए हैं जिन्हें हम इस साल पहली बार कवर कर रहे हैं। इन सभी कैमरों को सेंट्रल कण्ट्रोल रूम में मुख्य गिनती प्रणाली से जोड़ा जाता है, जो हज़रत अब्बास के पवित्र रौज़े में बनाया गया है। इस माध्यम से हम दैनिक डेटा प्राप्त करेंगे जो हम रिपोर्ट के रूप में एकत्र करते हैं और फिर उन्हें ज़ियारत ए अरबाइन के अंत में मीडिया को घोषित करते हैं, जैसा कि पिछले वर्षों में मामला रहा है। “

अभियंता फेरास ने बताया कि ज़ायरों की गिनती करने के लिए एक और विशेष प्रणाली हज़रत अब्बास के रौज़े में भी लगाई गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *