मौलाना तहजीबुल हसन का निधन, जामिया इमाम मेहदी में सुपुर्दे खाक

Share This News

जाकिरे अहलेबैत व आलिमे दीन मौलाना तहजीबुल हसन का शनिवार रात वाराणसी के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया।

मौलाना को शनिवार दोपहर बाद आजमगढ़ स्थित मदरसा जामिया इमाम मेहदी में काफी संख्या में उलमा, जाकिर, गणमान्य नागरिकों, विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों और भारी भीड़ के बीच सुपुर्दे खाक किया गया।

स्वर्गीय मौलाना को हार्ट अटैक के बाद वाराणसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका ऑपरेशन किया गया, लेकिन तबितय में सुधार नहीं हुआ और शनिवार रात उन्होंने आखिरी सांस ली।

आजमगढ़ के कप्तानगंज के बरसरा आईम्मा गांव के निवासी लगभग 50 वर्षीय स्वर्गीय मौलाना तहजीबुल हसन ने बनारस के जव्वादिया अरबिक कॉलेज से दीनी शिक्षा ग्रहण की, जिसके बाद आजमगढ़ स्थित जामिया इमाम मेहदी और जामिया जैनबिया में प्रबंधक के पद पर कार्यरत रहे।

स्वर्गीय मौलाना अपने पीछे पत्नी और तीन पुत्रियां छोड़ गये हैं, जिसमें से एक का विवाह हो चुका है। स्वर्गीय मौलाना विदेश के कई देशों सहित देश के कई हिस्सों में मजलिसों को खिताब कर चुके थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *