सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान का फिलिस्तीन के संगठनो ने की कड़ी निंदा

Share This News

सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान द्वारा इस्राईल के अस्तित्व को औपचारिक रूप से स्वीकारे जाने पर फिलिस्तीनी संगठनों ने कड़ी निंदा की है।

डेमोक्रेटिक फ्रंट फॉर द लिबरेशन ऑफ़ पलेस्टाइन के नेता तलाल अबू ज़ुरैफ़ा ने कहा कि हम इस बयान की निंदा करते हैं, मोहम्मद बिन सलमान फिलिस्तीन आंदोलन के लिए बहुत बड़ा खतरा है। बिन सलमान ने ज़ायोनी राष्ट्र की मुफ्त में सेवा की है हम अरब इस्राईल संबंधों को सामान्य बनाने के लिए चलाई जा रही हर प्रक्रिया को तत्काल रोके जाने की मांग करते हैं।

वही साबेरीन मूवमेंट ने इस बयान की निंदा करते हुए कहा कि फिलिस्तीनी जनता की मांग है कि हमारे उद्देश्यों और सपनों को निशाना बनाकर दिए जा रहे ऐसे बयानों पर तत्काल रोक लगनी चाहिए, प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह और हमास को आतंकवादी गुट बताया जाना क्षेत्र के लिए बहुत खतरनाक होगा। सऊदी अरब ने फिलिस्तीनी जनता के अधिकारों का हनन किया है तथा यह रवैया अन्यायपूर्ण है।

वहीँ पॉपुलर फ्रंट फॉर द लिबरेशन ऑफ़ पलेस्टाइन ने कहा कि बिन सलमान ने अपने इंटरव्यू के माध्यम से एक लम्बी अवधि से चले आ रहे सऊदी अरब और इस्राईल के गोपनीय संबंधों को जगजाहिर किया है।

बता दें कि सऊदी के युवराज ने कहा था कि हमे इस्राईल से कोई आपत्ति नहीं है हम अवैध राष्ट्र को यहूदी देश मानते हैं तथा इस्राईल और सऊदी अरब के हित एक समान हैं, मिडिल ईस्ट में शांति समझौता होने की अवस्था में जॉर्डन, मिस्र आदि के साथ साथ खाड़ी सहयोग परिषद् के देशों के साथ इस्राईल के हित साझा होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...