क्रास वोटिंग को लेकर गर्म रहा अफवाहों का बाजार, हर दल में सेंध की खबर से रोचक बनता गया मुकाबला

Share This News

लखनऊ ब्यूरो। प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिए शुक्रवार हो हुये मतदान के दौरान बसपा विधायक अनिल सिंह और सपा के नितिन अग्रवाल की बगावत के साथ ही क्रास वोटिंग की अफवाह का बाजार गरम हो गया।

चर्चा शुरू हो गयी कि भारतीय सुहलदेव समाज पार्टी और अपना दल के भी एकएक विधायक ने अपना वोट भाजपा उम्मीदवार को न देकर सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार को दिया है। बसपा और सपा के एक-एक विधायक के वोट देने पर अदालत ने पहले ही रोक लगा दी थी, इस माहौल में सभी की नजर निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया और उनके साथ विनोद सरोज पर थी, क्योंकि यह दोनों वोट काफी महत्वपूर्ण थे। सबसे अंत में राजा भैया और विनोद एक गाड़ी से ही वोट देने विधानभवन आये।

मीडिया से बात चीत किये बिना राजा भैया सीधे वोट देने चले गये। मीडिया उनका बाहर इंतजार करता रहा, लेकिन राजा भैया दूसरे गेट से बाहर निकल गये। सूत्रों की माने तो राजा भैया वोट देने के बाद विनोद सरोज के साथ विधानभवन में स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय में योगी आदित्यनाथ से मिलने गये, यह भी कहा जा रहा है कि राजा भैया के साथ भाजपा के 9वें उम्मीदवार अनिल जैन भी मौजूद थे। इस दौरान राजा भैया ने इतना जरुर कहा कि उन्होंने जो कहा था वहीं किया है, यानि उन्होंने अखिलेश यादव से किया गया वादा निभाया और अपना मत सपा उम्मीदवार जया बच्चन को दिया।

इसके बाद यह कयास लगाये जाने लगा कि राजा भैया ने सपा को वोट दिया और विनोद सरोज ने अपना मत भाजपा उम्मीदवार को दे दिया होगा। राज्यसभा चुनाव का मतदान विधानभवन के तिलक हाल में सुबह नौ बजे शुरू हुआ। मतदान की प्रक्रिया अपने निधार्रित समय 5 बजे से पहले की समाप्त हो गयी।

बसपा विधायक अनिल सिंह ने क्रासवोटिंग के बाद कहा कि उन्होंने अपनी अन्तरात्मा की आवाज सुनकर वोट दिया है। अन्तरात्मा की पुकार पर हम महाराज जी यानि योगी आदित्यनाथ के साथ चले गए। इस बीच कांग्रेस विधायक नरेश सैनी के भी भाजपा को वोट देने की खबर आई, लेकिन उन्होंने मीडिया के सामने आकर इसका खण्डन किया। उन्होंने कहा कि मैंने पार्टी के निर्देशानुसार बसपा प्रत्याशी यानी महागठबंधन को वोट दिया है। भाजपा बौखला गई है, इसलिए अफवाहें फैला रही है। जब परिणाम आएगा, उससे सब साफ हो जाएगा। गौरतलब है कि राज्यसभा चुनाव आगामी लोकसभा निर्वाचन के लिए सूबे की दो बड़ी सियासी ताकतों सपा और बसपा के गठबंधन की सम्भावनाओं के लिहाज से निर्णायक होगा।

मतदान को लेकर विधायकों में काफी जोश दिया, 10 बजे तक तिकल हाल के बाहर विधायकों की लम्बी कतार लग गयी थी। सपा के वरिष्ठï नेता शिवपाल सिंह यादव भी वोट देने आये। दोपहर में मोहम्मद आजम खां अपने बेटे अबदुल्लाह आजम के साथ वोट देने आये। आजम ने मीडिया से काफी देर तक बात भी की। सबसे अंत में वोट देने वालों में राजा भैया शामिल थे। बताया जा रहा है कि राजा भैया के वोट देने तक सपा के दो विधायकों का मत रोका गया था, राजा भैया की स्थिति स्पष्टï होने के बाद उन दोनों विधायकों ने सपा उम्मीदवार को वोट दिया। सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने सुबह में भी राजा भैया की फोटो अपने साथ ट्वीट, जिसमे उन्होंने समर्थन के लिये आभार जताया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *