मौलाना सैफ अब्बास की तरफ से मुनक़्क़िद मजलिस को डॉ कल्बे सादिक़ ने किया खिताब

Share This News

हज़रत दिलदार अली गुरानमाब के यौमे वफ़ात पर चौक स्थित इमामबाड़ा जन्नतमआब में मौलाना सैफ अब्बास की जानिब से आयोजित मजलिस को खिताब करते हुए डॉ कल्बे सादिक़ ने कहा कि हिन्दुस्तान में शियों की पहचान देने वाले गुफरानमाब थे।

उन्होने हज़रत गुफरानमाब की इल्मी खिदमात का ज़िक्र करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान के तमाम उलेमा के उस्ताद थे। मौजूदा वक़्त में भी उनके शिष्य मौजूद हैं।

उन्होने कहा कि क़ौम को चाहिए की जो अलीम बअमल हैं, उनकी खिदमात को ज़िंदगी का नमूना बना कर अपनी ज़िंदगी बसर करें।

डॉ कल्बे सादिक़ ने हज़रत गुफरानमाब के मुख्तलिफ पहलूओं का ज़िक्र करते हुए उनकी समाजी और मिली खिदमात का ज़िक्र किया आखिर में उन्होने मसाएब कर्बला बयान किया जिसको सुनकर अज़ादार गिरया करने लगे।

इस मजलिस में मौलाना शबीहुल हसन, मौलाना सय्यद अफ़ज़ाल हुसैन, मौलाना सय्यद मोहम्मद मशरेकैन, मौलाना सुहैल आदि ने शिरकत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...