योगी सरकार से नाराज़ हुए मौलाना कल्बे जव्वाद, अगले जुमे को शुरू होगा आंदोलन

Share This News

अब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से किये गए वादे के पूरा होने की प्रतीक्षा कर रहे मौलाना कल्बे जव्वाद प्रदेश सरकार के रवैये से नाराज हो गये हैं। वक्फ सम्पत्तियों को लेकर प्रदेश सरकार के उदासीन रवैये से नाराज मौलाना ने प्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन का ऐलान कर दिया है।

मौलाना ने हुसैनाबाद ट्रस्ट और वक्फ बोर्ड में भ्रष्टïाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि ट्रस्ट प्रशासन के अधीन है, जिस कारण से यहां होने वाले धार्मिक कार्यों में मनमानी की जा रही है।

मौलाना ने शुक्रवार को जुमातुल विदा की नमाज में रोजेदार नमाजियों को खिताब करते हुए कहा कि अगले जुमे से धर्मगुरु अपनी गिरफ्तारी देकर विरोध जतायेंगे।

आसिफी मस्जिद में जुमे की नमाज से पूर्व खुतबे में मौलाना ने फिलीस्तीन के समर्थन में होने वाले प्रदर्शन की इजाजत न देने की कड़ी निंदा की। मौलाना ने कहा कि प्रशासन ने बताया कि इमामबाड़ा धार्मिक स्थल है और उसके आस-पास कोई राजनीतिक गतिविधि संचालित नहीं हो सकती। जबकि मौलाना ने कहा कि यह आयोजन पूरी तरह से धार्मिक है और इसमें किसी राजनीतिक दल या राजनेता को शामिल नहीं होना है। आयोजन जिस जगह होना है उसका नाम अजादारी रोड, ऐसे में आयोजन पर रोक लगाना अनुचित है।

मौलाना ने कहा कि मैं समझता था कि यह अच्छी सरकार है, लेकिन इस सरकार में भी वक्फखोरों और धांधलेबाजों को संरक्षण मिल रहा है। जब तक हुसैनाबाद ट्रस्ट शियों के हवाले नहीं हो जाता आंदोलन जारी रहेगा। मौलाना ने अगले शुक्रवार 15 जून को आंदोलन का ऐलान किया है।

उल्लेखनीय है कि मौलाना कल्बे जव्वाद नकवी को गुरुवार को जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय से पत्र संख्या 1685 एसीएमटू की ओर से जारी करते हुए यौमे कुद्स कार्यक्रम की अनुमति नहीं मिलना बताया गया, जबकि मौलाना की ओर से आयोजन की अनुमति के लिए 30 मई को आवेदन किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...