ज़िल्हिज्जा के चाँद की तरह न मचे अफरा तफरी, मुहर्रम में चाँद कमिटियां मुश्तर्का एलान करें: डॉ कल्बे सिब्तैन

Share This News

कुछ ही दिनों में माहे मुहर्रम का चाँद नमूदार होगा, न सिर्फ लोग अज़ादारी बरपा करने की तैयारी में मसरूफ हैं ऐसे में समुदाय में चाँद को देखे जाने पर एक बार फिर से सवाल उठ रहा है।

हाल ही में ज़िल्हिज्जा के चाँद के लेकर हुए कन्फयूज़न हुआ था उसके बाद से ही कौम में एक सवाल है कि आखिर मुहर्रम के चाँद को लेकर वैसे हालात तो नहीं बनेंगे।

इसी मसले को लेकर इस्लामिक स्कॉलर डॉ कल्बे सिब्तैन नूरी ने चाँद कमिटियों से अपील की है।

उन्होने अपने पोस्ट पर लिखा कि सइंटिफीक्ली पहली मुहर्रम इंशाअल्लाह इंडिया में 12 सितम्बर को होने की उम्मीद है .ये भी उम्मीद है के 11 सितम्बर को बदल होंगे और उफ़ुक़ अब्र आलूद होगा जैसा के मौसम का मिज़ाज नज़र आ रहा है और वेअथेर डिपार्टमेंट की पेशीनगोई भी है।

इस लिए सभी चाँद समिति के ज़िम्मेदारन आपस में बात चीत करके मुश्तरका तौर पैर कोई भी एलान करें। चाहे एलान 29 के हिसाब से हो या न हो, एक ही एलान हो।

ज़िल्हिज्जा के चाँद को ले कर जैसी अफरा तफरी मची थी कोशिश होना चाहिए उस तरह की सूरत ए हाल अब न पेश ए के मोमिनीन को दुश्वारी का सामना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *